मुस्कुराहट

एक प्यारी सी मुस्कराहट क्या-क्या रंग दिखाती है, इस कविता से जानिए-

आज मैंने जाना,

क्या होती है मुस्कुराहट|

सूखी डाली को हरा करती है मुस्कुराहट,

फीकी होली को रंगीन करती है मुस्कुराहट,

पतझड़ में फूल खिलाती है मुस्कुराहट,

निराशा में आशा की किरण भरती है मुस्कुराहट|

आज मैंने जाना,

क्या होती है मुस्कुराहट,

निर्बल को बल देती है मुस्कुराहट,

अंधेरों को रोशन करती है मुस्कुराहट,

दिल खुश कर देती है मुस्कुराहट,

जिन्दगी बनाती है मुस्कुराहट|

आज मैंने जाना,

क्या होती है मुस्कुराहट,

खेल खिलाती है मुस्कुराहट,

जीत दिलाती है मुस्कुराहट,

दुःख में ख़ुशी देती है मुस्कुराहट,

रोतो को हँसाती है मुस्कुराहट|

आज मैंने जाना,

क्या होती है मुस्कुराहट,

रंजिशों को मिटाती है मुस्कुराहट,

दिलों को मिलाती है मुस्कुराहट,

उम्मीदें बढाती है मुस्कुराहट,

ख्वायिशें पूरी करती है मुस्कुराहट |

-किरण यादव

Advertisement

6 responses to “मुस्कुराहट”

  1. shaandaar avismarniya sundar zhanzhanit aani changla kavita likhi hai

    Liked by 1 person

    1. Yha to hindi katha chalati h ye marathi kha se aa gyi..

      Like

      1. Yeh bhi thik hai bhavika ji

        Liked by 1 person

  2. Shandaar kavita..nane munne baloko ki muskurahat ne sari chinta dur kr di.

    Liked by 1 person

    1. Sahi keh rahi ho bhavika ji

      Liked by 1 person

  3. Good poem 😊😊😊

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: